20200902 212850

गृह मंत्री- विपक्ष के पास नहीं है उम्मीदवार

आपको बता दें कि उपचुनाव की गरमा-गरमी स्टार्ट हो चुकी है कांग्रेस और बीजेपी में तकरार है बढ़ती जा रही है वार पलटवार चलता ही जा रहा है कांग्रेस और बीजेपी के कई बड़े मंत्री एक दूसरे पर टिप्पणी कर रहे हैं आपको पता ही होगा कि उपचुनाव होने हैं जिसमें करीब 27 सीटों पर चुनाव है और बीजेपी का दावा है कि वह करीब 27 सीटें जीत के कांग्रेस का झंडा उखाड़ देंगे। वहीं कांग्रेस के कमलनाथ अपने अलग ही रंग में दिख रहे हैं और आज गृह मंत्री मैं संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस उपचुनाव में सभी सीटों को जीतने का दावा नहीं करेंगी तो बाकी लोग भी भाग जाएंगे.

Home Minister – Opposition does not have candidates

विपक्ष के पास नहीं है उम्मीदवार बीजेपी के पुराने नेताओं को ढूंढ कर कांग्रेस में शामिल करने की कोशिश। विपक्षी पार्टी के पास टिकट के दावेदार लोग भी नहीं बचे हैं. ग्वालियर-चंबल में कांग्रेस का सूरज अब अस्ताचल की ओर है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लोकसभा में 23 सीटें जीतने और विधानसभा चुनाव में एक तिहाई सीटें जीतने का दावा किया था, परिणाम क्या हुआ सब जानते हैं.

डा. मिश्रा ने कांग्रेस नेताओं को लेकर कहा कि संकटकाल में भी जनता के बीच नहीं जाने वाले कांग्रेस के किसी नेता को आरोप लगाने का कोई अधिकार नहीं है. कोरोना काल और इतनी भयावह बाढ़ में भी कांग्रेस का कोई नेता जनता के बीच नहीं दिखा. वोट के लिए सिर्फ भाजपा को कोसने के बजाए कांग्रेस को जनता की सेवा भी करनी चाहिए. आपको पता ही है कि कांग्रेस के आधे से ज्यादा ग्वालियर चंबल के नेता बीजेपी में शामिल हो चुके हैं कांग्रेस के पास अभी कोई इतने बड़े उम्मीदवार नहीं बचे जिसे वहां से लड़ा सके लेकिन कमलनाथ जुगाड़ में लगे हुए हैं कि कोई ना कोई रास्ता निकल आए ताकि नाक तो बज जाए।

Leave a Reply

Loading...