vaccine3 1597466506

70 दिन में आ जाएगी मोदी की कोरोनावायरस की vaccine । सब को मुफ्त देने की तैयारी

नई दिल्ली। हम आपको बता दें कि मोदी की जो कोरोनावायरस तक दिन में भारत में उपलब्ध रहेगी और लोगों को लगेगी यह दवाई फ्री दी जाएगी क्योंकि मोदी लोगों से जुड़े हुए नेता है और वह फ्री में यह दवाई लगा कर लोगों को बचाना चाहते हैं। मौजूदा समय में कोरोना महामारी पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी चुनौती बनी हुई है। भारत में हर रोज तकरीबन 60 हजार से अधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं, जिसकी वजह से आम जनजीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। लेकिन इस बीच कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर सामने आई है। एक रिपोर्ट के अनुसार भारत की पहली कोरोना वैक्सीन कोवीशील्ड जिसे सीरम इंस्टीट्यूट तैयार कर रहा है, वह 73 दिन में उपलब्ध हो सकती है। यही नहीं यह वैक्सीन लोगों को नेशनल इम्युनिसेजन प्रोग्राम के तहत मुफ्त में लगाई जाएगी।

मुफ्त में लोगों को मिलेगी वैक्सीन

बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के अनुसार सीरम इंस्टीट्यूट के शीर्ष अधिकारी ने बताया कि सरकार ने हमे स्पेशल मैन्युफैक्चरिंग के लिए वरीयता पर लाइसेंस दिया है ताकि तेज गति से वैक्सीन का ट्रायल हो सके, यह अगले 58 दिनों में पूरा हो जाएगा।

तीसरे चरण में लोगों को पहली खुराक देने का काम शुरू हो चुका है, जबकि दूसरी खुराक 29 दिनों के भीतर दी जाएगी। दूसरी खुराक देने के 15 दिन बाद फाइनल ट्रायल डेटा सामने आएगा। उस समय तक हम कोवीशील्ड को लोगों तक पहुंचाने को लेकर अपनी रणनीति तैयार कर रहे हैं।

ट्रायल चल रहा

इससे पहले माना जा रहा था कि अंतिम चरण के ट्रायल में कम से कम 7-8 महीने लग सकते हैं। यह ट्रायल 1600 वालंटियर पर 17 अलग-अलग सेंटर में किया जा रहा है, 22 अगस्त से यह ट्रायल 100-100 के गुट में किया जा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि हमारी कई वैक्सीन में से एक वैक्सीन का तीसरे और अंतिम चरण का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है। हमे इस बात का पूरा भरोसा है कि इस वर्ष के अंत त

स्वास्थ्य मंत्री का दावा

मीडिया से बात करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि इसके अलावा जिन अलग-अलग वैक्सीन के ट्रायल चल रहे हैं, उनमें से कुछ साल 2021 की पहली तिमाही तक लोगों को उपलब्ध हो जाएंगी। डॉ. हर्षवर्धन ने आगे कहा कि भारत में तैयार हो रही कोरोना वायरस की वैक्सीन के ट्रायल पूरे होने के बाद इनके प्रभाव का पता चलेगा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ऑक्सफोर्ड की जिस वैक्सीन का उत्पादन भारत के सीरम इंस्टीट्यूट ने किया है, उसे भी जल्द से जल्द मार्केट में लाने के लिए प्रक्रिया चल रही है।

ये कंपनियां हैं रेस में

इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने दावा किया कि भारत बायोटेक और ज़ाइडस कैडिला के वैक्सीन के ट्रायल पूरे होने के बाद इनके उत्पादन और उन्हें मार्केट में लाने में एक महीने का समय और लगेगा। अगर इनके ट्रायल पूरी तरह सफल साबित होते हैं तो मुझे भरोसा है कि साल 2021 की पहली तिमाही में ये दोनों वैक्सीन लोगों को उपलब्ध हो जाएंगी। इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने दावा किया कि भारत बायोटेक और ज़ाइडस कैडिला के वैक्सीन के ट्रायल पूरे होने के बाद इनके उत्पादन और उन्हें मार्केट में लाने में एक महीने का समय और लगेगा। अगर इनके ट्रायल पूरी तरह सफल साबित होते हैं तो मुझे भरोसा है कि साल 2021 की पहली तिमाही में ये दोनों वैक्सीन लोगों को उपलब्ध हो जाएंगी।

आपकी दुआ मोदी के साथ है और वह लोग भी चाहते हैं कि वह vaccine दिया जए। ताकी कि वह सब सुरक्षित रह सके

Leave a Reply

Loading...