20201121 084403

हिंदू के त्योहारों पर ही क्यों आते है कोरोना

देशभर में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच गुजरात सरकार की ओर से अहमदाबाद में शुक्रवार रात नौ बजे से 60 घंटे के लिए कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है, जिससे लोगों को भीड़भाड़ वाले शहर के बाजारों में जरूरी सामान खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ा।

गुजरात, विशेषकर अहमदाबाद में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए गुजरात सरकार ने गुरुवार शाम को अहमदाबाद में रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने का फैसला किया था। हालांकि, देर रात स्थिति की समीक्षा के बाद 60 घंटे के कर्फ्यू की घोषणा की गई।

गुजरात के अतिरिक्त मुख्य सचिव आर.के. गुप्ता ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “स्थिति की समीक्षा देर रात की गई और अब यह निर्णय लिया गया है कि अहमदाबाद में सोमवार की रात नौ बजे से सोमवार सुबह की सुबह छह बजे तक पूर्ण कर्फ्यू लगाया जाएगा।

केवल दूध और दवा बेचने वाली दुकानों को खोलने की अनुमति दी जाएगी।

गुप्ता ने कहा, रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक हर रोज रात का कर्फ्यू जारी रहेगा। अहमदाबाद में दिवाली समारोह के दौरान और बाद में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ, गुजरात सरकार ने रात्रि कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। देर रात के फैसले ने एक और राष्ट्रव्यापी बंद के बारे में लोगों के बीच अफवाहें पैदा कीं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने शुक्रवार को कहा, “लॉकडाउन का कोई सवाल ही नहीं है।

कर्फ्यू केवल दो दिनों तक सीमित है। यह ‘सप्ताहांत’ (वीकेंड) शब्द है, जिसका मतलब है कि कर्फ्यू शनिवार और रविवार को होगा।” इस बीच अहमदाबाद में रात्रि कर्फ्यू लगाने के फैसले के बाद जरूरी सामान खरीदने वाले लोगों का हुजूम देखा गया। शहर के बाजारों में भारी भीड़ देखी गई।

Leave a Reply

Loading...