20201103 085821

आज होगी उपचुनाव के लिये वोटिंग? शिवराज या कमलनाथ?

मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए आज मतदान हो रहा है. प्रदेश की 28 सीटों पर 355 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं, जिनमें 22 महिला प्रत्याशी व 12 मंत्री भी मैदान में हैं. कांग्रेस और बीजेपी के बीच ज्यादातर सीटों पर सीधी लड़ाई मानी जा रहाी है जबकि कुछ सीटों पर बसपा और निर्दलीय ने त्रिकोणीय मुकाबला बना दिया है. यह उपचुनाव सूबे के शिवराज सरकार की भविष्य का फैसला करेगा तो कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सीएम कमलनाथ की भी प्रतिष्ठा दांव पर लगी है.

एमपी की 28 सीटों पर प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करीब 63 लाख 88 हजार मतदाता करेंगे. इनमें 33.72 लाख पुरुष और 29.77 लाख महिला और 198 थर्ड जेंडर मतदाता हैं, जबकि 18,737 सर्विस वोटर मतपत्रों से मतदान करेंगे. उपचुनाव वाली सीटों पर वोटिंग के लिए 9,361 मतदान केंद्र बनाए हैं, जिनमें से 3,038 बूथ ‘संवेदनशील’ श्रेणी में रखे गए हैं.

उपचुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था और निष्पक्ष मतदान के लिए 33 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किए गए हैं.

मध्य प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के इतिहास में पहली बार किसी राज्य में एक साथ 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं. एमपी की 29 विधानसभा सीटें रिक्त हैं, जिनमें से 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं. उपचुनाव कांग्रेस के 25 विधायकों के इस्तीफा देने और 3 विधायकों के निधन से रिक्त हुई सीटों पर हो रहे हैं. ऐसे में बीजेपी ने कांग्रेस के आए सभी 25 विधायकों के टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारा है, जिनमें से शिवराज सरकार के 14 मंत्री भी हैं.

एमपी की कुल 230 विधासभा सीटों हैं, जिनमें से 29 सीटें रिक्त है. इनमें से 28 सीटों पर चुनाव हो रहा हैं, जिसके लिहाज से कुल 229 सीटों के आधार पर बहुमत का आंकड़ा 115 चाहिए. ऐसे में बीजेपी को बहुमत का नंबर जुटाने के लिए महज आठ सीटें जीतने की जरूरत है जबकि कांग्रेस को सभी 28 सीटें जीतनी होंगी. मौजूदा समय में बीजेपी के 107 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के 87, चार निर्दलीय, दो बसपा और एक सपा का विधायक है.

28 सीटों पर उपचुनाव

मध्य प्रदेश की जिन 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, जिनमें से ग्वालियर-चंबल इलाके की 16 सीटें हैं. इनमें मुरैना, मेहगांव, ग्वालियर पूर्व, ग्वालियर, डबरा, बमोरी, अशोक नगर, अम्बाह, पोहारी,भांडेर, सुमावली, करेरा, मुंगावली, गोहद, दिमनी और जौरा सीट शामिल है. वहीं, मालवा-निमाड़ क्षेत्र की सुवासरा, मान्धाता, सांवेरस आगर, बदनावर, हाटपिपल्या और नेपानगर सीट है. इसके अलावा सांची, मलहरा, अनूपपुर, ब्यावरा और सुरखी सीट है. इसमें से जौरा, आगर और ब्यावरा सीट के 3 विधायकों के निधन के चलते उपचुनाव हो रहे हैं.

Leave a Reply

Loading...