20201117 083352

शिवराज मंत्रीमंडल से देंगे कुछ मंत्री इस्तीफ, नए लोगो को मिलेगा मौका।

विधानसभा उपचुनाव के नतीजों के बाद शिवराज मंत्रिमंडल में एक बड़ा बदलाव हो सकता है। कुछ पुराने मंत्री जो चुनाव हार चुके हैं इस्तीफा देंगे और कुछ नए चेहरे जो जीते हैं उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि शिवराज कैबिनेट के सदस्य और सिंधिया के समर्थक माने जाने वाले दो मंत्री जल्द अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री को सौंप सकते हैं। दरअसल प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी और कृषि राज्य मंत्री गिर्राज दंडोतिया चुनाव हार गए हैं। दोनों ही नेता 2 जुलाई 2020 को बिना विधायक बने ही मंत्री बने थे और संविधान में यह प्रावधान है कि किसी भी ऐसे व्यक्ति को जो बिना विधायक बने मंत्री बनाया जाता है, छह महीने के अंदर विधान परिषद या विधानसभा का सदस्य होना अनिवार्य है। ऐसा न होने पर छह महीने के बाद उसका कार्यकाल समाप्त हो जाएगा

इमरती और गिर्राज दंडोतिया का कार्यकाल एक जनवरी 2021 को खत्म होगा। लेकिन यह दोनों विधानसभा का उपचुनाव हार चुके हैं, इसलिए अब इस बात की व्यापक संभावना है कि एक या दो दिन के भीतर यह लोग इस्तीफा दे सकते हैं। हालांकि एंदल सिंह कंसाना ने हार के बाद अपना इस्तीफा दे दिया है।

वहीं नैतिकता के आधार पर इमरती और गिर्राज दंडोतिया भी जल्द ही अपना इस्तीफा सौंप सकते हैं। इन दोनों मंत्रियों के इस्तीफे देने के बाद अब मंत्रिमंडल में कुल चार स्थान खाली हो जाएंगे जिन्हें भरने के लिए शिवराज सिंह चौहान के पास में दावेदारों की एक लंबी फेहरिस्त है। इस लिस्ट में शिवराज सिंह चौहान के अपने पंसदीदा नेता व सिंधिया संमर्थक नेता भी शामिल है। जिनमें राजेन्द्र शुक्ला, केदार शुक्ला, गिरीश गौतम, अजय विश्नोई, रामेश्वर शर्मा, प्रदीप लारिया ,शैलेंद्र जैन, सीताशरण शर्मा , संजय पाठक ,यशपाल सिसोदिया, रामपाल जैसे वरिष्ठ नेता कतार में हैं।

Leave a Reply

Loading...