images 22

कमलनाथ करेंगे मध्य प्रदेश की जनता को संबोधन | बीजेपी ने उठाए सवाल

हम आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में उप चुनाव से पहले ही गर्मी देर हो चुकी है दोनों पार्टी अपनी जीत का दावा कर चुकी हैं लेकिन कुछ कहा नहीं जा सकता कि चुनाव में कौन जीतेगा क्योंकि चुनाव में भरपूर टक्कर होगी. कांग्रेस नेता कमलनाथ द्वारा 14 अगस्त को मध्यप्रदेश की जनता को संबोधित करने की घोषणा को लेकर भाजपा नेता ने विवादित बयान दे डाला। भाजपा नेता डॉ हितेश बाजपेई ने 14 अगस्त को कमलनाथ के संबोधन को लेकर उन्हें पाकिस्तान का पक्षधर कह दिया।

मध्य प्रदेश में उपचुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस के बीच का सर्वे सामने आया है

मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम व कांग्रेसी नेता कमलनाथ के 14 अगस्त को मध्यप्रदेश को संबोधित करने को लेकर भाजपा नेता ने विवादित बयान दे डाला। भाजपा नेता डॉ हितेश बाजपेई ने कमलनाथ को पाकिस्तान का पक्षधर बता दिया। भाजपा नेता के इस बयान से मध्य प्रदेश के सियासी गलियारों में राजनीतिक चर्चाएं तेज हो गईं हैं।
दरअसल कल 14 अगस्त को मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेसी नेता कमलनाथ ने मध्य प्रदेश को संबोधित करने की बात कही है, जिस पर भारतीय जनता पार्टी के नेता डॉक्टर हितेश बाजपेयी ने उन्हें पाकिस्तान का पक्षधर बताते हुए कहा कि 14 अगस्त को पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है।

Kamal Nath will address the people of Madhya Pradesh. BJP raised questions

दिन कमलनाथ जी मध्य प्रदेश को संबोधित करने के लिए कहे हैं।

यह बात ये प्रदर्शित करता है कि कहीं न कहीं वह पाकिस्तान के पक्षधर हैं। उन्होंने कहा कि आप ही के कांग्रेस के नेता नेहरू जी की वजह से पाकिस्तान का जन्म हुआ, वरना पाकिस्तान का अस्तित्व ही नहीं होता। हितेश बाजपेई ने आगे कहा कि इस प्रकार पाकिस्तान के 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए अब कमलनाथ मैदान में है। हालांकि भाजपा नेता के इस बयान के बाद राजस्थान में सियासत गरमा गई और राजनीतिक गलियारों में तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी हैं। आप देखने वाली हो या बात होगी कि कौन उपचुनाव में दिखता है लेकिन हम आपको यह भी बताना चाहेंगे कि कांग्रेस से आए बीजेपी में उन नेताओं को ज्यादा तवज्जो दी जा रही है और पूर्व में काम कर रहे बीजेपी के कई नेता खुद बीजेपी से नाराज चल रहे हैं यह अंदरूनी खबर है इस वक्त की क्योंकि पार्टी में अब नेताओं को जगह नहीं मिल रही है और कांग्रेस से आए नेताओं को ज्यादा तवज्जो मिलने कारण उन्हें अब बीजेपी में कोई रास्ता नहीं दिखाई दे रहा है अब ऐसा लग रहा है कि आने वाले चुनाव में वह कांग्रेस का साथ अंदरूनी तरफ से दे सकते हैं.

Leave a Reply

Loading...