20200829 084731

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ – मामा फिर झूठा वादा कर गए

हम आपको बता दो जबसे शिवराज सरकार बनी है तब से ही कमलनाथ दुखी से हो गए हैं क्योंकि उनकी कोशिश चले गई है लेकिन कुर्सी वापसी के लिए वह बहुत जद्दोजहद कर रहे हैं वह हर तरीके के कार्य पर ध्यान दे रहे हैं जहां उन्हें फायदा मिल सके उपचुनाव में जीतना इतना आसान नहीं होगा क्योंकि बीजेपी के पास बाहरी समर्थन हासिल है जहां बीजेपी ग्वालियर में कमजोर दिख रही थी अब वह पूरी ताकत से आगे बढ़ चुकी है ।मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह के इंदौर दौरे को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बड़ा हमला किया है। कमलनाथ ने कहा कि 13 साल सीएम रहे शिवराज एक बार फिर से इंदौर में झूठी घोषणाएं कर गए। कमलनाथ ने कहा कि जो सीएम इतने वर्षों में सरकारी अस्पतालों की व्यवस्था न सुधार पाए वे अब क्या सुधारेंगे। वही सीएम शिवराज के इस दौरे को राजनीति से प्रेरित बताया और कहा कि बीजेपी ने सारा ध्यान सांवेर विधानसभा पर फोकस था।

पूर्व सीएम ने कहा कि 13 वर्ष तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह प्रदेश में सरकारी अस्पतालों की ना व्यवस्था सुधार पाए, ना ढंग के सरकारी अस्पताल बना पाए , जिसमें गरीब जनता को सस्ता व अच्छा इलाज मिल सके , इसीलिए प्रदेश में निजी अस्पतालों की लूट मची हुई है।

प्रतिदिन निजी अस्पतालों के लूट के किस्से सामने आ रहे हैं, बीमारी के नाम पर लाखों के बिल थमाकर लोगों को लूटा जा रहा है। गरीब व मध्यम वर्ग इलाज के लिए भटक रहे हैं। सरकारी अस्पतालों में ना पर्याप्त बेड उपलब्ध है , ना बेहतर इलाज की समुचित व्यवस्था है और इसी का फायदा उठाकर निजी अस्पताल कई माह से मनमर्जी कर लूट खसोट कर रहे है।

वहीं आज इंदौर दौरे से उम्मीद थी कि सीएम शिवराज स्वास्थ्य सुविधाओं के मामले में सख्त कदम उठाएंगे , कठोर निर्णय लेंगे , निजी अस्पतालों की मनमानी पर अंकुश के लिए कोरना संक्रमण के इलाज की दरें तय करेंगे , जिससे कि निजी अस्पतालों की महीनो से चल रही लूट बंद हो सके लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। हमेशा की तरह मुख्यमंत्री अपने सपनों के शहर इंदौर में आज फिर झूठे सपने दिखा गए , कोरी जुबानी चेतावनी व लच्छेदार बातें कहकर उन्होंने जनहित से जुड़े इस मुद्दे को टाल दिया। वहीं मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि जिस तरह सीएम शिवराज सिंह चौहान ने खेतों में जाकर खराब फसलों के निरिक्षण का नाटक किया, ऐसा कमलनाथ जी ने सीएम पद पर रहते हुए कभी नहीं किया। वो तो संकट की घड़ी में किसानो को सहायता प्रदान करने में विश्वास रखते है।

Leave a Reply

Loading...