20200816 132834

उपचुनाव में कांग्रेस खेलेंगी हिंदू कार्ड

हम आपको बता दें कि 27 सीटों पर उपचुनाव में हिंदू कार्ड खेलेगी कांग्रेस, भाजपा प्रवक्ता बोले- वो दिन में हनुमान चालीसा का पाठ और रात में मौलवियों की मीटिंग करते हैं होने हैं उसे पहले ही कांग्रेस के पूर्व सीएम कमलनाथ अब हिंदू का खेलने की तैयारी में लगे हुए हैं वह हनुमान जी की पूजा में दिन हो चुके हैं बिल्कुल किसी बात को लेकर बीजेपी प्रवक्ता बोले- वो दिन में हनुमान चालीसा का पाठ और रात में मौलवियों की मीटिंग करते हैं.

राजनीति:27 सीटों पर उपचुनाव में हिंदू कार्ड खेलेगी कांग्रेस, भाजपा प्रवक्ता बोले- वो दिन में हनुमान चालीसा का पाठ और रात में मौलवियों की मीटिंग करते हैं

अयोध्या में राम मंदिर के लिए हुए भूमिपूजन से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने ट्विटर हैंडल पर ये फोटो लगाई थी। -फाइल फोटो

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हितेष वाजपेयी कहते हैं कि कांग्रेस अब उस स्थिति में पहुंच गई है कि उसे समझ ही नहीं आ रहा है कि क्या करें

आगामी महीनों में प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस ने हिंदू कार्ड खेलने की पूरी तैयारी कर ली है। इसका ताना-बाना भी कांग्रेस ने बुनना शुरू कर दिया है। अयोध्या में राम मंदिर के लिए हुए भूमिपूजन से पहले पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ भगवामय नजर आए। उन्होंने कांग्रेस की परंपराओं को तोड़ते हुए प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में राम दरबार की झांकी सज वाई तो कृष्ण जन्माष्टमी पर अपने घर पर धूमधाम से पूजन किया। इतना ही नहीं 4 अगस्त को तो कमलनाथ ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपनी भगवा कपड़े पहने हुए फोटो लगा दी।

प्रदेश कांग्रेस में आए इस बदलाव को भाजपा नेता पाखंड करार दे रहे हैं। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हितेष वाजपेयी कहते हैं कि कांग्रेस अब उस स्थिति में पहुंच गई है कि उसे समझ ही नहीं आ रहा है कि क्या करें। कमलनाथ दिन में हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। शाम को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में राम दरबार सजाते हैं। वहीं, रात में मौलवियों को खुश करने के लिए उनके साथ बैठक करते हैं। अब तक अल्पसंख्यक राजनीति की नाव पर सवार रही कांग्रेस के इस रुख से लोग अचरज में हैं।

अयोध्या में राम मंदिर के लिए हुए भूमिपूजन से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अपने ट्विटर हैंडल पर ये फोटो लगाई थी। -फाइल फोटो

आगामी महीनों में प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस ने हिंदू कार्ड खेलने की पूरी तैयारी कर ली है। इसका ताना-बाना भी कांग्रेस ने बुनना शुरू कर दिया है। अयोध्या में राम मंदिर के लिए हुए भूमिपूजन से पहले पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ भगवामय नजर आए। उन्होंने कांग्रेस की परंपराओं को तोड़ते हुए प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में राम दरबार की झांकी सज वाई तो कृष्ण जन्माष्टमी पर अपने घर पर धूमधाम से पूजन किया। इतना ही नहीं 4 अगस्त को तो कमलनाथ ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपनी भगवा कपड़े पहने हुए फोटो लगा दी।

4 अगस्त को अपने घर पर हनुमान चालीसा के बाद भगवान की आरती करते कमलनाथ।

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ से लेकर दिग्विजय सिंह तक राम मंदिर निर्माण का स्वागत कर रहे हैं। प्रदेश की सत्ता में वापसी का ख्वाब देख रही कांग्रेस को यह लगने लगा है कि आस्था से जुड़े इस मसले पर आमजन की भावनाओं के विपरीत जाने का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। दूसरी तरफ भाजपा ने विभिन्न माध्यमों के जरिये मंदिर निर्माण को उत्सव से जोड़ दिया। यही वजह है कि कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की भाषा बदल गई। अयोध्या में भूमि पूजन के तीन दिन पहले पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने ट्वीट किया ‘मैं अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का स्वागत करता हूं। देशवासियों को इसकी बहुत दिनों से अपेक्षा और आकांक्षा थी।”

Leave a Reply

Loading...