images 10 1

लो आ गया मोदी का राफेल, घबरा गया चीन, पाकिस्तान और नेपाल

आ गए फ्रांस के बब्बर शेर भारत में राफेल के 5 विमानों की पहली खेप आसमान में कड़ी निगरनी के बीच फ्रांस से आज अंबाला एयरबेस पहुंची। इसके बाद भारतीय वायुसेना में 29 जुलाई की तारीख को सुनहरे अक्षरों से लिखा जाएगा, जब इसके बेडे में शामिल होने के बाद इसकी ताकत कई गुणा बढ़ गई है। इन विमानों को पानी की बौछार के साथ वाटर सैल्यूट किया गया। पाकिस्तान और चीन के साथ जिस तरह की आज सीमा पर स्थिति बनी है उसके मद्देनजर राफेल को काफी अहम माना जा रहा है। दुश्मन की नींद उड़ाने वाले अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों के वायुसेना बेड़े में शामिल होने से न सिर्फ भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ेगी बल्कि चीन और पाकिस्तान के लिए इसका एक अलग संदेश है।

मोदी का राफेल Rafale

भारतीय सेना के आदेश के बाद अंबाला कैंट में उतारे गए राफेल चीन और पाकिस्तान पर सीधी नजर कुछ भी करेंगे तो हम राफेल की मदद ले सकेंगे हम आपको बताते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच हमेशा ही आतंकवाद को लेकर गहमागहमी बनी रहती है लेकिन अब चीन भी भारत की सीमा में घुसने की कोशिश कर रहा है कोई ना कोई बहाना और कोई ना कोई जगह कब बात को लेकर वह भारत पर कोई ना कोई जगह को अपना बताना शुरू कर देता है अब भारत की जमीन को अपना बताने लगता है लेकिन अब राफेल के आने के बाद चीन भी घबराया हुआ है कि उनके विमान पीछे पड़ जाएंगे rafale के सामने. आपको बता दें कि 2006 और 2011 में अफगानिस्तान में इसने आतंकवादियों को को मार गिराया था एक ऑपरेशन के द्वारा इसलिए इस विमान को बस्ती हाईटेक और आज की तकनीक का माना जाता है जिसकी बहुत ज्यादा डिमांड चल रही है और ऐसे कोई दूसरा अभी तक लड़ाकू विमान सामने नहीं आया जो उसको टक्कर दे सके.

Leave a Reply

Loading...