section 144

कर्फ्यू और धारा 144 में क्या अंतर है । What is the difference between curfew and section 144 ?

अक्सर आम जिंदगी में कर्फ्यू नाम सुनने को मिल ही जाता है। क्योंकि जब कहीं पर दंगे होते हैं ।तो उस क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया जाता है । तो रोजमर्रा की जिंदगी में अपन कर्फ्यू नाम बहुत ही आसानी से सुनते ह।ैं मगर इसका अर्थ क्या होता है ।यह बहुत कम लोगों को पता रहता है ।

और कई क्षेत्रों में हमें सुनने को मिलता है ।कि सीआरपीसी धारा 144 लगा दी गई है। आखिर धारा 144 और कर्फ्यू होता क्या है। दोनों एक समान है या दोनों में अंतर है। इसलिए के दौरान कुछ अध्ययन करते हैं। किसी शहर में दंगे लूटपाट या कोई भी शहर में हालात बिगड़ने के कारण वहां पर धारा 144 लगाई जाती यह जिला मजिस्ट्रेट के द्वारा जारी किया जाता है। यह एक नोटिफिकेशन होता है ।

कर्फ्यू और धारा 144 में क्या अंतर है

धारा 144 लग जाती है तब किसी भी क्षेत्र में या किसी भी शहर में 5 से ज्यादा लोग एक साथ इकट्ठा नहीं हो सकते कानों पर हथियारों को लाने और ले जाने की पर भी रोक होती है। इसका उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है ।धारा 144 लगने के बाद अगर कोई गैरकानूनी काम करता है ।तो वह भी दंडनीय अपराध माना जाता है और पुलिस उस को गिरफ्तार कर लेती है ।ऐसे लोगों को दंगे बुक करने के लिए भी दंड दिया जाता है।

curfew

कर्फ्यू कब हटेगा ?

धारा 144 पर अधिकारियों को इंटरनेट यूज करने पर भी प्रतिबंध लगाया जाता है ।और कर्फ्यू का आदेश किसी शहर का या किसी स्थान पर हालात बिगड़ने पर कर्फ्यू का आदेश दिया जाता है।

धारा 144 क्या है?

मैं किसी समय या किसी अवधि के लिए लोगो को घर के अंदर ही रहना पड़ता है।ऐसा माना जाता है कि यह किसी भी हिंसक कार्य को रोकने के लिए बहुत ही कारगर है। इसीलिए कर्फ्यू लगाया जाता है। आपको बता दें कि कर्फ्यू का आदेश आम जनता के लिए होता है ताकि वह अपने घरों में ही रहे अभिषेक चीजों की स्वीकृति होती है।वह भी कुछ समय के लिए लोग रोजमर्रा की चीजें घर के पास वाली दुकानों से सकते हैं ।

धारा 144 का उल्लंघन?

कुछ समय के लिए स्कूल बाजार यह सब बंद कर दिया जाता है लड़कियों से पहले धारा 144 लगा दी जाती है ।और आपको दिया समय अनुसार अपने घरों के अंदर जाना होता है ।इस समय पर यातायात पूर्ण रूप से प्रतिबंध होता है। क्या कहना गलत नहीं होगा कि कर्फ्यू धारा 144 का बड़ा रूप है।

कर्फ्यू कब खत्म होगा?

कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं निकल सकता कोई भी व्यक्ति समान रूप से कहीं आ जा नहीं सकता विवाह समारोह, परीक्षाओं शव यात्रा वह धार्मिक उत्सव पर भी रोक लगा दिया जाता है ।बिना अनुमति के अनशन व धरना नहीं कर सकता अनुमति चक्काजाम करने पर रोक होती है

section 144

धारा 144 कब लगती है?

अनुमति तेज आवाज पटाखे और जलाने की भी अनुमति नहीं होती,नाही बेचने की बिना अनुमति लाउडस्पीकर डीजे की अनुमति भी नहीं होती नागरिकों की सारी कानूनी अधिकार छीन लिए जाते हैं और उन सब पर थोड़े समय के लिए प्रतिबंध लगा दिया जाता है।

Leave a Reply

Loading...