20201004 114608

Ljp-BJP-jdu गठबंधन टूटा, अमित शाह नाराज

एलजेपी (LJP) केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक शाम 5 बजे दिल्ली में है. कहा जा रहा है कि पार्टी बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फ़ैसला ले सकती है. 56 उम्मीदवारों की पहली सूची भी आ सकती है. एलजेपी की मांग है कि एनडीए (NDA) में तार्किक समझौता हो. मिली जानकारी के अनुसार पिछले विधानसभा और लोक सभा चुनाव के आधार पर एलजेपी 42 सीट चाहती है. लेकिन, बीजेपी (BJP) की तरफ़ से एलजेपी 24 से 27 सीटें ऑफर किए जाने की खबर है. लिहाजा साथ चुनाव लड़ना मुश्किल नजर आ रहा है.

एलजेपी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के नेतृत्व से आपत्ति है इसलिए वह केवल एनडीए के घटक दल जेडीयू और हिन्दुस्तान अवाम मोर्चा (HAM) के खिलाफ अपने प्रत्याशी उतारेगी.

मिली जानकारी के अनुसार एलजेपी जेडीयू के ख़िलाफ हर सीट पर उम्मीदवार उतार सकती है. एलजेपी की मज़बूत सीटों पर बीजेपी के साथ फ्रेंडली फाइट भी हो सकता है. सूत्रों के अनुसार ऐसी 20 सीटें हो सकती हैं.

गौरतलब हो कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah) और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (jp nadaa) के साथ गुरुवार को चिराग पासवान की मुलाकात के बाद भी सीटों के फार्मूले पर कोई नतीजा अब-तक नहीं निकल पाया है. इस बीच लोजपा की ओर से कहा गया है कि सीएम नीतीश के कार्यकाल में हुए भ्र्ष्टाचार के मुद्दे को वह उठाती रहेगी.

बता दें कि एनडीए में लोजपा को लेकर फॉर्मूला तय होने में पेंच फंसा हुआ है. इसी को देखते हुए सीटों का फॉर्मूला तय करने के लिए बुधवार की रात पटना पहुंचे बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव और चुनाव प्रभारी देवेंद्र फणडवीस शुक्रवार की शाम दिल्ली लौट गए. इस दौरान उनकी बातचीत जदयू नेतृत्व से नहीं हुई.हालांकि शनिवार की सुबह ये दोनों ही नेता पटना वापस लौट आए हैं और माना जा रहा है कि एनडीए में सीटों को लेकर चल रहा गतिरोध दूर करने के लिए आज आखिरी दौर की बात होगी. वैसे भाजपा और जदयू दोनों तरफ से ये दावे किया जा रहे हैं कि एनडीए एकजुट है और सीट बंटवारे के फॉर्मूले को जल्द अंतिम रूप दे दिया जाएगा.

Leave a Reply

Loading...