20210218 210936

रेलवे ट्रैक पर बैठे प्रदर्शनकारी कृषि कानून वापस लेने की मांग

ग्वालियर। कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने गुरुवार को ग्वालियर में भी रेल रोको आंदोलन किया। इस दौरान किसानों ने जमकर हंगामा किया। दोपहर में सैकड़ों की संख्या में आंदोलनकारी रेलवे स्टेशन पर पहुंच गए और पटरियों पर लेट गए। सूचना मिलते ही तत्काल फोर्स अंदर पहुंचा। पटरियों पर लेटे महिला, पुरुषों को खदेड़ते हुए बाहर ले गए। पुलिस ने डंडे के जोर पर 10 मिनट में ट्रैक साफ करा दिया। आंदोलनकारी किसान रेलवे स्टेशन से आधा किलोमीटर दूर एजी ऑफिस पुल के नीचे से ट्रैक पर पहुंचे और पैदल चलकर स्टेशन के पास आए। इस दौरान रेलवे स्टेशन पर करीब 1 से 1.30 बजे के बीच हंगामा चलता रहा। अब जीआरपी इन आंदोलन करने वालों पर एफआईआर की तैयारी कर रही है।

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून के विरोध में करीब 85 दिन से किसान आंदोलन चल रहे हैं। इसी सिलसिले में किसान संगठनों ने देशभर में गुरुवार को 12 से 4 बजे के बीच रेल रोको आंदोलन की घोषणा की थी। ग्वालियर में भी किसानों, किसान संगठन, माकपा के सदस्यों ने रेल रोकने के लिए हंगामा किया और पटरियों पर लेटकर नारेबाजी की। अखिल भारतीय किसान सभा के नेतृत्व में करीब आधा सैकड़ा से अधिक लोग गुरुवार दोपहर ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर पहुंच गए। पुलिस बाहर खड़ी पहरा दे रही थी। यह किसान अंदर पहुंचकर पटरियों पर लेट गए। जब आंदोलनकारी नहीं माने तो पुलिस को डंडा चलाना पड़ा। महिलाओं और पुरुषों को उठाकर ट्रैक से दूर कर बाहर खदेड़ दिया।

ग्वालियर और डबरा में किसानों का रेल रोको आंदोलन, सुरक्षाबल ने रेलवे ट्रैक पर लेटे प्रदर्शनकारियों को सख्ती से हटाया pic.twitter.com/QA4gtFYePa

डबरा में भी किसानों का प्रदर्शन, पुलिस ने ट्रैक से हटाया
ग्वालियर के डबरा में भी किसानों रेल रोको आंदोलन किया। यहां प्रदर्शनकारी रेल पटरी पर लेट गए और नारेबाजी की। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को ट्रैक से हटाया और शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने को कहा। ग्वालियर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह और एसपी अमित सांघी ने डबरा पहुंचकर आन्दोलनकारियों से बात की और रेल लाइन से दूर हटाया। इसके बाद अपनी निगरानी ट्रेन पास कराई। पुलिस ने यहां आंदोलनकारी कृष्णा देवी, राज रावत, गुलाब सिंह रावत को हिरासत में ले लिया था।

ग्वालियर में 25 लाख रु. चोरी करने वाली लड़की दिल्ली में बॉयफ्रेंड के घर पकड़ी; प्रॉपर्टी कारोबारी के घर घटना को अंजाम दिया था

मंत्री प्रद्युम्न सिंह की घोषणा, नहीं पहनूंगा माला, पैसे को ट्रस्ट में जमा कर दूंगा कन्यादान-शिक्षा के लिए

जिले के 125 से अधिक शा. स्कूलों में केवी की तरह पढ़ाई होगी

मप्र में सहारा की 30 करोड़ की जमीन कुर्क

रात में हुई बूंदाबांदी से दिन का पारा गिरा

सिरफिरे ने किशोरी को बंधक बनाकर की छेड़छाड़, विरोध करने पर बालकनी से नीचे फेंका

Leave a Reply